Tuesday, Mar 19, 2019
HomeSports and Entertainmentहार्दिक और राहुल की भद्दी टिप्पणी पर कप्तान कोहली ने तोड़ी चुप्पी

हार्दिक और राहुल की भद्दी टिप्पणी पर कप्तान कोहली ने तोड़ी चुप्पी

हाल ही में फिल्ममेकर करण जौहर के चैट शो ‘कॉफ़ी विद करण’ में भारतीय क्रिकेट टीम के स्टार खिलाड़ी हार्दिक पंड्या और केएल राहुल पहुचे थे और इस दौरान उनकी टिप्पणिया सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बन गई। अब हर तरफ से आलोचनाए झेल रहे हार्दिक ने एक पोस्ट शेयर कर माफ़ी मांगी है बावजूद इसके अभी भी विवाद थमता नज़र नहीं आ रहा है। अब इस विवाद पर भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने भी प्रतिक्रिया दी है और कहा है कि यह विचार उनके निजी थे और किसी भी सूरत में इंडियन टीम ऐसे विचारों का समर्थन नहीं करती।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 12 जनवरी से शुरू हो रही एकदिवसीय सीरीज़ से ठीक पहले मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस विवाद पर कहा, ‘हम निश्चित रूप से, भारतीय टीम के जैसे कि भारतीय क्रिकेट टीम उस तरह के विचारों का समर्थन नहीं करती है और इसपर बातचीत की गई है।’ कोहली ने कहा, ‘भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा होने और जिम्मेदार क्रिकेटर होने के नाते हम उनके बयान और विचारों से इत्तेफाक नहीं रखते। वह उनके निजी विचार हैं।’

कोहली ने यह भी कहा, ‘भारतीय क्रिकेट टीम के दृष्टिकोण से, उस परिदृश्य में की गई कोई भी अनुचित टिप्पणी कुछ ऐसी है जिसका हम निश्चित रूप से समर्थन नहीं करते हैं और दो संबंधित खिलाड़ियों को लगा कि क्या गलत हुआ है और उन्होंने जो कुछ हुआ है उसकी भयावहता को समझा है। निश्चित रूप से यह किसी को भी झटका देगी, वे निश्चित रूप से उन चीजों को समझेंगे जो सही नहीं हुई हैं।’

वही कयास लगाए जा रहे है कि बीसीसीआई हार्दिक और राहुल के खिलाफ कार्यवाई कर सकता है और उन्हें मैच सस्पेंशन मिल सकता है। अगर ऐसा हुआ तो पहले मैच में हार्दिक को टीम में जगह नहीं मिलेगी। इसपर विचार रखते हुए कोहली ने कहा, हम अभी भी एक निर्णय के लिए इंतजार कर रहे हैं, लेकिन भारतीय क्रिकेट टीम के दृष्टिकोण से यह ड्रेसिंग रूम में हमारे विश्वासों के संदर्भ में कुछ भी नहीं बदलता है।’ कोहली ने कहा, ‘संयोजन और टीम संतुलन के दृष्टिकोण से, हाँ, आपको उस संयोजन के बारे में सोचना होगा जो आपको अभी चाहिए होगा।’ कोहली ने यह भी कहा, ‘आपका इन चीजों पर नियंत्रण नहीं होता, इसलिए आपको इसका सामना करना पड़ता है, जिस तरह से यह सामने आता है। जब निर्णय निकलेगा तो संयोजनों पर ध्यान देना होगा। हम देखेंगे कि पूरी स्थिति के बारे में क्या करने की जरूरत है।’

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT