Monday, Nov 19, 2018
HomeNewsसंत सम्मेलन में पीएम मोदी को बताया गया ‘राम का अवतार’, जताई हैरानी

संत सम्मेलन में पीएम मोदी को बताया गया ‘राम का अवतार’, जताई हैरानी

pm modi ram mandir

लोकसभा चुनाव होने में अब कुछ महीनो का समय ही बचा हुआ है और ऐसे में चुनाव के सामने आते ही एक बार फिर राम मंदिर की मांग उठने लगी है। इसी बीच शनिवार को शुरू हुए अखिल भारतीय संत समिति के दो दिवसीय सम्मेलन के दौरान राम मंदिर की मांग तो की ही गई लेकिन इस दौरान पीएम मोदी को भगवान राम का अवतार बता दिया गया। हाल ही में आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने सरकार से कानून लाकर मंदिर का रास्ता साफ करने की बात कही थी और अब ठीक इसी के बाद सम्मेलन में ऐसे बयान दिए जा रहे है।

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार इस सम्मेलन में स्वामी विवेकानंदजी महाराज ने कहा कि इससे ज्यादा आदर्श स्थिति नहीं हो सकती कि राम भक्त नरेंद्र मोदी पीएम है, जबकि राम भक्त योगी आदित्यनाथ यूपी के सीएम है। उन्होंने आगे कहा कि मुझे महसूस होता है कि भक्ति में मोदी जी भगवान राम के अवतार है। अगर राम मंदिर उनके कार्यकाल में नहीं बनता तो यह हैरान करने वाला होगा।

वही रिपोर्ट के अनुसार अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में केंद्रीय मंत्री रहे स्वामी चिन्मयानंद ने कहा कि विपक्षी समूहों से बातचीत करने की कोई भी संभावना ख़त्म हो चुकी है। वही राम जन्मभूमि न्यास सदस्य राम विलास वेदांती ने कहा कि मंदिर किसी विधेयक या कानून के ज़रिये नहीं बल्कि ‘आपसी रजामंदी’ से बन सकता है वर्ना ‘कोई भी सांप्रदायिक दंगे रोक नहीं पाएगा।’ वेदांती ने कहा कि मंदिर बनाने का कानून बनेगा, विधेयक आएगा, बिल पास होगा, लेकिन फिर देश में सांप्रदायिक दंगा को कोई रोक नहीं सकता। हम चाहते है खून खराबा न हो। इस देश में शांति बनी रहे। वेदांती ने आश्वासन दिया कि अयोध्या में राम मंदिर बना तो लखनऊ में ‘खुदा के नाम पर’ एक मस्जिद बनेगी। उन्होंने कहा कि मैं अयोध्या में विराजमान रामलला से प्रार्थना करता हू कि वे पीएम और बाकी सभी को सदबुद्धि दे ताकि रामलला का भव्य मंदिर दिसंबर से बनना शुरू हो सके।

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT