Tuesday, Mar 19, 2019
HomeNewsसंसद में हंगामा कर रहे सांसदों को स्पीकर ने किया बाहर, जानिए पूरा मामला

संसद में हंगामा कर रहे सांसदों को स्पीकर ने किया बाहर, जानिए पूरा मामला

कावेरी मुद्दे को लेकर तमिलनाडु के सत्ताधारी पार्टी एआईएडीएमके के सांसद लगातार संसद में हंगामा कर रहे थे जिसके बाद लोकसभा और राज्यसभा से पार्टी के सांसदों को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

आपको बता दें कि राज्यसभा में डीएमके के चार सांसद भी हंगामे में शामिल रहे। नारेबाजी से नाराज वेंकैया नायडू ने पहले तो दो बार संसद को स्थगित किया और इसके साथ नियम 255 का इस्तेमाल करते हुए डीएमके और एआईएडीएमके के सांसदों को पूरे दिन के लिए सदन से बाहर भेजने का फैसला ले लिया।

दूसरी ओर लोकसभा में राफेल मुद्दे को लेकर चर्चा हो रही थी लेकिन इस दौरान भी एआईएडीएमके के 26 सांसद पूरे समय कावेरी मुद्दे को लेकर हंगामा करते रहे। इस विरोध प्रदर्शन से नाराज स्पीकर ने एआईडीएमके के 26 सांसदों को पूरे दिन के लिए सस्पेंड कर दिया जिसके बाद उन्हें तुरंत ही वहां से बाहर जाने का आदेश दिया गया।

आपको बता दें कि कर्नाटक सरकार ने कावेरी नदी पर मेकेदूत बांध बनाने का फैसला किया है। इससे यह माना जा रहा है कि तमिलनाडु को कम पानी मिलेगा जिससे वहां की फसलों पर असर पड़ सकता है। तमिलनाडु के सभी सांसद विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं और केंद्र सरकार से इस मामले में हस्तक्षेप करने की बात कह रहे हैं।

सांसदों के हंगामे के बाद जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी अपना बयान देने के लिए खड़े हुए थे लेकिन डीएमके और एआईएडीएमके के सांसद अपना प्रदर्शन रोकने का नाम नहीं ले रहे थे जिसके बाद पहले तो नितिन गडकरी का भाषण रुकवाया गया और उसके बाद इन सभी प्रदर्शनकारी सांसदों को पूरे दिन के लिए सस्पेंड कर दिया गया।

एआईएडीएमके के सांसद एम थंबीदुरई ने आरोप लगाया है कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक में कुछ सीटें जीतना चाहती है इसीलिए कावेरी मुद्दे पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।

उन्होंने कहा कि विरोध करना हमारा संवैधानिक अधिकार है और हम इसे करते रहेंगे जब तक इस मामले का कोई हल नहीं निकलता है।

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT