Wednesday, Apr 24, 2019
HomeNewsरिपोर्ट में खुलासा: देश में 5 करोड़ लोग 135 रुपय रोज़ाना से कम पर कर रहे गुज़ारा, गरीबो की संख्या में हुई बड़ी कटौती

रिपोर्ट में खुलासा: देश में 5 करोड़ लोग 135 रुपय रोज़ाना से कम पर कर रहे गुज़ारा, गरीबो की संख्या में हुई बड़ी कटौती

ghareebi india

दुनिया के कई देश जहां गरीबी हद से ज्यादा है उन्ही देशो में भारत का भी नाम हुआ करता था लेकिन कुछ वर्षो से भारत ने गरीबी ख़त्म करने का बड़ा काम किया और अब भारत पूरी दुनिया में अपना लोहा मनवा रहा है। अत्यधिक गरीबी से निपटने के मामले में भारत ने दुसरे देशो को पीछे छोड़ दिया है।

अग्रेज़ी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, थिंकटैंक ब्रुकिंग्स की रिपोर्ट में कहा गया, ‘भारत जल्द ही गरीबी को काफी कम समय में ख़त्म करने वाला सबसे बड़ा देश बन्ने जा रहा है। विश्व ने शायद भारत की इस कामयाबी को नज़रंदाज़ किया। 2017-18 का सेव भारतीय घरेलु उपभोग को व्यापक स्तर पर कवर करता है। इसमें घर का मालिकाना हक़ और अंतराष्ट्रीय मानको के मुताबिक अन्य चीजों का उपभोग शामिल है।’

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ पब्लिक फाइनेंस एंड पालिसी में प्रोफेसर एनआर भानुमूर्ति ने कहा कि 2004-05 से लेकर अभी तक भारत की गरीबी में लगातार गिरावट देखने को मिली है। उन्होंने कहा कि लगातार विकास करने वाली सरकारों द्वारा समावेशी विकास नीतियों और सामाजिक क्षेत्र के कार्यक्रमों के वितरण के लिए प्रत्यक्ष लाभ अंतरण योजनाओं के उपयोग ने एक महत्वपूर्ण बदलाव किया है। उन्होंने मनरेगा, धानमंत्री ग्राम सड़क योजना और इस तरह की अन्य योजनाओं को लाभकारी बताया।

रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2011 में जहां रोजाना 135 रूपए से कम में गुज़ारा करने वालो की संख्या 26.8 करोड़ थी, वह आज केवल 5 करोड़ रह गयी है। रिपोर्ट के अनुसार, अगर ऐसा ही रहा तो डाटा बताता है कि भारत 2030 तक अत्यधिक गरीबी के मामले में शीर्ष 10 देशों की सूची से बाहर हो जाएगा।

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT