Tuesday, May 21, 2019
HomeNewsपुलवामा हमला: बेटे की शहादत की खबर सुन मां बोली ‘अब मेरा बेटा अमर हो गया’

पुलवामा हमला: बेटे की शहादत की खबर सुन मां बोली ‘अब मेरा बेटा अमर हो गया’

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले ने 40 से अधिक जवानो के घर मातम का माहौल कर दिया है और पूरे देश को हिलाकर रख दिया है। शहीद होने वाले जवानो में तरनतारन के गांव गंडीविंड धत्तल का सुखजिंदर सिंह भी शामिल हैं जिन्होंने सुबह ही अपने से अपने बच्चे की खबर ली थी और रात होते ही उनकी शहादत की खबर आ गयी।

जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, सुखजिंदर सिंह सीआरपीएफ की 76वीं बटालियन में बतौर कांस्टेबल तैनात पट्टी के गांव गंडीविंड धत्तल निवासी गुरमेल सिंह के बेटे थे। उसकी शादी गांव शकरी निवासी सरबजीत कौर के साथ हुई थी और दोनों का एक आठ माह का बीटा गुरजोत सिंह था। 28 जनवरी को सुखजिंदर सिंह एक माह की छुट्टी के बाद ड्यूटी पर लौटे थे और जाते समय उसने अपने बेटे को बार-बार चूमा था।

रिपोर्ट के अनुसार, सुखजिंदर के छोटे भाई गुरजंट सिंह जंटा ने बताया कि सुबह ही सुखजिंदर ने उसे फोन कर बताया था कि जम्मू-कश्मीर में बंद रास्ता अब खुल चुका है और अब ढाई हजार जवानों का काफिला अपनी मंजिल की ओर बढ़ेगा। सुखजिंदर फोन पर बार-बार अपने बेटे गुरजोत के बारे में पूछ रहा था कि वो रोता तो नहीं है। वह जल्द ही अपने बेटे के लिए ढेर सारे खिलौने भेजेगा। साथ ही अपनी बहन लखविंदर कौर के लिए कश्मीर के अखरोट भेजेगा। इसके बाद दोपहर करीब साढ़े 12 बजे हुए आतंकी हमले में 44 जवानों के साथ सुखजिंदर सिंह की शहादत की खबर ने पूरे परिवार को पत्थर कर दिया।

गुरजंट सिंह ने कहा कि सीआरपीएफ के हेडक्वार्टर से सुखजिंदर सिंह की शहादत की खबर आते ही उसने अपनी मां हरभजन कौर को इसकी सूचना दी। शहादत की खबर सुनते ही अपने बेटे की फोटो हाथ में लेकर वह बार-बार कहने लगी कि उनका बेटा अब अमर हो गया। गुरजंट ने बताया कि सुखजिंदर सिंह का पार्थिव शरीर शुक्रवार को बाद दोपहर गांव गंडीविंड धत्तल पहुंचेगा।

NO COMMENTS

LEAVE A COMMENT